pfms ka full form hindi mai

pfms ka full form hindi mai
Spread the love

pfms ka full form hindi mai-pfms का फुल फॉर्म हिंदी में

इसका हिंदी में फुल फॉर्म सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (pfms ka full form hindi mai) है जो हिंदी ट्रांसलेशन के हिसाब से है। इसका उपयोग करके सरकार जो भी पैसे आम लोगो तक भेजती है उसे ट्रैक कर सकते है। इसमें आप अपने जो भी पैसे सरकार की तरफ से भेजे गए है उसे एक ऑप्शन know your payment की मदद से जान सकते है।

और देखे

full form phd 

kcc full form

ssc board full form

pm kisaan nidhi yojna

 pfms full form-pfms ka full form hindi mai

इसक फुल फॉर्म Public Financial Management System  (PFMS) है। सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (pfms ka full form hindi mai) एक केंद्रीय योजना  निगरानी प्रणाली है, जो भारत की वित्त मंत्रालय की है। इसका उपयोग एनपीसीआई / आरबीआई के माध्यम से आधार based  और गैर-आधार based  बैंक खातों दोनों के लिए  Direct Benefit Transfer (डीबीटी) / गैर डीबीटी भुगतान के ई-भुगतान के लिए एक मंच के रूप में किया जाता है।

pfms yojna-सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (pfms ka full form hindi mai)

सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (pfms ka full form hindi mai)के द्वारा  लोगों को सीधे उनके बैंक / डाकघर खाते के माध्यम से सब्सिडी हस्तांतरित करना प्रत्यक्ष लाभ अंतरण है। इसका उद्देश्य सरकारी प्रणाली में दक्षता, प्रभावशीलता, पारदर्शिता और जवाबदेही लाकर नागरिक योजना का फायदा पहुंचना  है। डीबीटी के माध्यम से सरकार इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसफर को तेज करने ,पैसे पहुंचने की देरी को कम करने और सही लाभार्थी तक पैसे पहुंचने की प्राथमिकता को बढ़ता है जिससे भ्रस्टाचार और काला बाजारी पर रोक लगता है।

 

PFMS के बारे में पृष्ठभूमि

सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (pfms ka full form hindi mai) ने शुरू में  योजना के रूप में 2008-09 में CPSMS के चार राज्यों मध्य प्रदेश, बिहार, पंजाब और मिजोरम में पायलट के रूप में चार फ्लैगशिप योजनाओं के लिए शुरू किया था जैसे – MGNREGS, NRHM, SSA और PMGSY। मंत्रालयों / विभागों में एक नेटवर्क स्थापित करने के प्रारंभिक चरण के बाद, केंद्र, राज्य सरकारों  की योजनाओ  को  वित्तीय नेटवर्क से  जुड़ाव  के लिए CPSMS (PFMS) का राष्ट्रीयएकीकरण  करने का फैसला लिया गया ।यह योजना आयोग और वित्त मंत्रालय की 12 वीं योजना पहल में शामिल थी।

pfms bank list

Abu Dhabi Commercial Bank

Allahabad Bank

Allahabad Gramin UP Bank

Andhra bank

Andhra Pragathi Grameena bank

Axis bank

Bank of Bahrain and Kuwait

Bank of Baroda

Bank of India

Bank of Maharashtra

Bassein catholic co-op.bank ltd.

Bombay mercantile co-op.bank ltd.

Canara bank

Catholic Syrian bank ltd.

Central bank of India

Citibank

City union bank ltd

Corporation bank

Dcb bank limited

Dena bank

Deutsche bank

Dhanlaxmi bank ltd

HDFC bank

HSBC

ICICI bank

IDBI bank

Indian bank

Indian overseas bank

Indusind bank limited

Jharkhand Gramin bank

Karnataka bank

Karur vysya bank

Kotak Mahindra bank

Madhya Bihar Gramin bank

Manipur state co-op.bank ltd.

New India co-operative bank ltd

NKGSB co-op bank ltd

Oriental bank of commerce

Punjab and Sind bank

Punjab National bank

RBL bank

South Indian bank

Standard chartered bank

State bank of India

Svc co-operative bank ltd.

Syndicate bank

Tamil Nadu mercantile bank ltd

The cosmos co-operative bank ltd.

The federal bank ltd

The Jammu and Kashmir bank ltd

The kalupur commercial co. op. bank ltd.

The Lakshmi Vilas bank ltd

The Saraswat co-operative bank ltd

The Thane Janata Sahakari bank ltd

UCO bank

Union Bank of India

United bank of India

Vijaya bank

Yes bank ltd

 

pfms kaise kaam karta hai

इसका मुख्य उद्देश्य केंद्र और राज्य सरकारों के वित्तीय नेटवर्क और राज्य सरकारों की एजेंसियों के साथ जुड़ना है। सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (pfms ka full form hindi mai)बैंकों के कोर बैंकिंग सिस्टम (सीबीएस) से जुड़ी हुई है, ताकि आधार लेनदेन और गैर-आधार based  बैंक दोनों को डीबीटी) के तहत सब्सिडी  का पैसा  ई-भुगतान के रूप में हो और उसकी  रियल  टाइम  की जानकारी  मिल सके। एनपीसीआई के माध्यम से खाते। यह प्रणाली NACH PLATFORM (राष्ट्रीय स्वचालित समाशोधन गृह) का उपयोग पूरे देश के लोगों के खातों में धन हस्तांतरित करने के लिए करती है क्योंकि भारत में कई सरकारी सब्सिडी योजनाएँ हैं। यह PFMS लाभार्थियों के बैंक खातों में सब्सिडी स्थानांतरित करने के लिए एक मजबूत तंत्र के रूप में कार्य करता है।

लाभार्थियों को सीधे उनके बैंक खाते के माध्यम से सब्सिडी हस्तांतरित करना प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) के रूप में जाना जाता है। सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली का उद्देश्य नागरिक, दक्षता, प्रभावशीलता,  और सरकारी प्रणाली को interactive बनाना  है। डीबीटी के द्वारा , सरकार इस प्रकार लाभ को  100 % दक्षता के साथ हासिल करने में सक्षम है  , जिससे भुगतान में देरी हो रही है और इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि लाभार्थियों का सटीक लक्ष्यीकरण हो रहा है, जिससे रिसाव और दोहराव की गिरफ्तारी हो रही है।

 

  1. सभी योजना योजनाओं के लिए एक सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली के रूप में कार्य करता है। यह सभी प्राप्तकर्ता एजेंसियों के सभी डेटा को संग्रहीत करता है और बैंकों के कोर बैंकिंग समाधान के साथ एकीकृत करता है, जो योजना निधि को संभालता है, राज्य कोषागार के साथ एकीकृत करता है। यह सरकार की योजना योजना के कार्यान्वयन के निम्नतम स्तर तक फंड प्रवाह की कुशल और प्रभावी ट्रैकिंग में मदद करता है।

 

  1. योजना के कार्यान्वयन में सार्वजनिक जवाबदेही बढ़ाने के लिए बेहतर निगरानी, समीक्षा और निर्णय लेने के लिए धन के उपयोग पर देश की सभी योजना योजनाओं / कार्यान्वयन एजेंसियों के बारे में जानकारी प्रदान करता है।

 

  1. सरकार के लिए बेहतर नकदी प्रबंधन, सार्वजनिक व्यय में पारदर्शिता, संसाधनों की उपलब्धता पर वास्तविक समय की जानकारी और योजनाओं के उपयोग में मदद करता है।

 

  1. बेहतर कार्यक्रम प्रशासन और प्रबंधन में परिणाम, सिस्टम में फ्लोट को कम करना, सीधे लाभार्थियों को भुगतान करना और इस तरह सार्वजनिक धन के उपयोग में अधिक पारदर्शिता और जवाबदेही पैदा करना।

 

  1. प्रस्तावित सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (pfms ka full form hindi mai) शासन में सुधार के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण के रूप में भी काम करेगी।

 

इस प्रणाली द्वारा कैप्चर किए गए सभी वित्तीय डेटा, इसलिए सिस्टम प्रमाणित लेनदेन के साथ हल किए जा सकते हैं।

हमने इसमें क्या बताया ?

इसमें हमने आपको सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (pfms ka full form hindi mai) के बारे में सबकुछ बताया है। जोकि आपको हर वेबसाइट पर इकट्ठा  नहीं  मिलेगा। आपको यह आर्टिकल पढ़कर कही कुछ बभी ढूढंने की जरूरत नही होगी। इससे आपका बहुत सारा समय बचेगा और सही जानकारी आपको मिल जाएगी।

अगर फिर भी  आपको कोई संदेह है या कुछ और जानना चाहते है तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करे या और कोई पॉइंट ऐड करना चाहते है इस पोस्ट में तो हमें जरूर बताए।

हमने जो भी इसमें बताया है अगर आपको अच्छा लगे तो इसे ज्यादा से ज्यादा फेसबुक ,व्हाट्सप्प ,इंस्टाग्राम  कही भी शेयर करे ताकि ज्यादा लोगो के पास यह जानकारी पहुंचे और उनको फायदा हो। अगर आप रेगुलर ऐसी ही जानकारी चाहते है तो हमारे NEWSLETTER को सब्सक्राइब करे।


Spread the love

Leave a Reply